WATCH

रविवार, 25 मार्च 2012

Roshi: पाषाण हिरदय

Roshi: पाषाण हिरदय: सब कहते हैं कि इंसान वक़्त के साथ बदल जाया करते हैं  समाज ,तजुर्बे ,उम्र ,रिश्ते आखिर बदल ही देते हैं कुछ इंसानों को  पर जो पाषाण- ह्रदय ही ...

2 टिप्‍पणियां:

शिखा कौशिक ने कहा…

like this page &show your passion of hockey

***Punam*** ने कहा…

प्रश्नचिन्ह अभी भी मौजूद है.....???