WATCH

बुधवार, 15 जनवरी 2014

Roshi: शरद ऋतू

Roshi: शरद ऋतू: शरद ऋतू में कभी बंद दरवाजे की झिरी के पास तनिक बैठ के देखो मिनटों में एहसास हो जायेगा उस बेदर्द सर्द हवा का जो गलाती है हड्डी रोज उन गरीब...

1 टिप्पणी:

Atiba Shamsi ने कहा…

fact mam, very touching and emotional. your words just touch the heart.