WATCH

शनिवार, 8 मार्च 2014

Roshi: अपने -पराये

Roshi: अपने -पराये: यह जिंदगी के चक्र का अजीब फलसफा है कभी यह शीर्ष पर तो कभी गर्त में गिराता है शीर्ष पर सुख और गर्त में घनघोर सताता है काश ,हो जाये कुछ ऐस...

1 टिप्पणी:

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सटीक प्रस्तुति....