WATCH

रविवार, 11 मई 2014

Roshi: माँ

Roshi: माँ: हर पल याद आता है वो माँ का निश्चल प्यार -दुलार वो दांत-फटकार ,वो उलहाने ,आँखों में समाया था उनके छोटा सा संसार हर घडी उनका रोकना -टोकना ल...

कोई टिप्पणी नहीं: