WATCH

शुक्रवार, 4 फ़रवरी 2011

Roshi: गणतंत्र दिवस

Roshi: गणतंत्र दिवस: "गणतंत्र दिवस आया और चला गया वही परेड,वही ध्वजारोहण ,वही भाषण दोहराया गया बात तो हमारे नेता सब आधुनिकता की करते है पर हमारे न..."

5 टिप्‍पणियां:

रचना दीक्षित ने कहा…

बात एक दम सही और हम भी वही. बधाईयां.

sandhya ने कहा…

Unable to read full Post ? some technical Problem ! Plz. correct it. thanks

Abnish Singh Chauhan ने कहा…

बिलकुल सही कहा आपने . बधाई स्वीकारें- अवनीश सिंह चौहान

RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA ने कहा…

रोशी जी मैंने चेक कर लिया । URL सही है । आपका
ब्लाग BLOG WORLD .COM से खुल रहा है ।
धन्यवाद

amar jeet ने कहा…

सत्य वचन रोशी जी
बसंत पंचमी की बहुत बहुत बधाई हो