WATCH

मंगलवार, 11 मार्च 2014

Roshi: परिस्थिति चाहे कितनी भी जटिल और दुरूह हो,हिम्मत और...

Roshi: परिस्थिति चाहे कितनी भी जटिल और दुरूह हो,हिम्मत और...: परिस्थिति चाहे कितनी भी जटिल और दुरूह हो,हिम्मत और उम्मीद का दमन ना छोडो......रात कितनी भी काली और अन्धयारी हो रौशनी की एक मामूली सी किरणभी...
परिस्थिति चाहे कितनी भी जटिल और दुरूह हो,हिम्मत और उम्मीद का दमन ना छोडो......रात कितनी भी काली और अन्धयारी हो रौशनी की एक मामूली सी किरणभी बहुत काफी होती है उस अंधयारे को दूर करने के लिए .........