WATCH

गुरुवार, 8 दिसंबर 2011

Roshi: माँ का आशीर्वाद

Roshi: माँ का आशीर्वाद: कब बच्चे हो जाते हैं बड़े और करने लगते हैं फैसले स्वयंपता भी न चलता है रह जाते हैं स्तब्ध हम .......... कभी उचित कभी अनुचित उठा जाते हैं वो...

माँ का आशीर्वाद

कब बच्चे हो जाते हैं बड़े और करने लगते हैं 
फैसले स्वयंपता भी न चलता है रह जाते हैं स्तब्ध हम ..........
कभी उचित कभी अनुचित उठा जाते हैं वो कदमपर हम फोरन भूल जाते हैं 
अपना गमयह ही तो होता है दिल और खून का रिश्ताजो मुआफ कर देता है 
अपने कोख जायों का हर सितममाँ तो माँ होती है औलाद