WATCH

मंगलवार, 19 दिसंबर 2017

Roshi: शिकायतें ,रिवायतें ,निभाते चले गए रस्मों ,रिवाजों ...

Roshi: शिकायतें ,रिवायतें ,निभाते चले गए रस्मों ,रिवाजों ...: शिकायतें ,रिवायतें ,निभाते चले गए  रस्मों ,रिवाजों के मकड़जाल को सुलझाते चले गए  ना कुछ हासिल कर सके ,ना ही कुछ बदल सके  हम सब ही ढोल चाहे आ...

कोई टिप्पणी नहीं: